घऱ के किस दिशा मे कैलेंडर को लगाए वास्तु अनुरुप

घऱ के किस दिशा मे कैलेंडर को लगाए वास्तु अनुरुप

नया साल 2020 हम सबकी जिंदगी में खुशियां लेकर आए यही हम सबकी कामना है। आइए जानें हमारे धर्मशास्त्रों से कुछ ऐसे उपाय घऱ के किस दिशा मे कैलेंडर को लगाए वास्तु अनुरुप ।

सही दिशा में सही कैलेंडर लगाने से प्रगति होती रहती है। वास्तु के अनुसार पुराने कैलेंडर को हटा देना चाहिए।

नए साल में नया कैलेंडर लगाएं। जिससे नए साल में पुराने साल से भी ज्यादा शुभ अवसरों की प्राप्ति होती रहे। समय के सूचक कैलेंडर नए साल के साथ ही परिवर्तनशील होते हैं। तारीख, साल, समय ये सब आगे बढ़ते रहते हैं और निरंतर आगे बढ़ते रहने को प्रेरित करते हैं। नया साल लगते ही हर घर में कैलेंडर बदल जाता है। कैलेंडर हमारी जिंदगी को प्रभावित करते हैं..

पूर्व में कैलेंडर

पूर्व में कैलेंडर लगाना बढ़ा सकता हैं प्रगति के अवसर- पूर्व दिशा के स्वामी सूर्य हैं , जो लीडरशिप के देवता हैं। इस दिशा में कैलेंडर रखना जीवन में प्रगति लाता है। लाल या गुलाबी रंग के कागज पर उगते सूरज, भगवान आदि की तस्वीरों वाला कैलेंडर हो।

उत्तर दिशा

उत्तर दिशा में कैलेंडर बढ़ाता है सुख-समृद्धि- उत्तर दिशा कुबेर की दिशा है। इस दिशा में हरियाली,फव्वारा, नदी,समुद्र, झरने, विवाह आदि की तस्वीरों वाला कैलेंडर इस दिशा में लगाना चाहिए। कैलेंडर पर ग्रीन व सफेद रंग का उपयोग अधिक किया हो।

पश्चिम दिशा

पश्चिम दिशा में कैलेंडर लगाने से बन सकते हैं रुके हुए कई कार्य- पश्चिम दिशा बहाव की दिशा है। इस दिशा में कैलेंडर लगाने से कार्यों में तेजी आती हैं। कार्यक्षमता भी बढ़ती है। पश्चिम दिशा का जो कोना उत्तर की ओर हो। उस कोने की ओर कैलेंडर लगाना चाहिए।

3 thoughts on “घऱ के किस दिशा मे कैलेंडर को लगाए वास्तु अनुरुप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: