BottonMenu

Category : Mantra

Nearly 3 years ago

महामृत्युंजय जपविधि – (मूल संस्कृत में) महामृत्युंजय भगवान शिव को खुश करने का मंत्र है

अथ महामृत्युंजय जपविधि संकल्पजय जपविधि संकल्प तत्र संध्योपासनादिनित्यकर्मानन्तरं भूतशुद्धिं प्राण प्रतिष्ठां च कृत्वा प्रतिज्ञासंकल्प कुर्यात ॐ तत्सदद्येत्यादि सर्वमुच्चार्य मासोत्तमे मासे अमुकमासे अमुकपक्षे अमुकतिथौ अमुकवासरे

Nearly 3 years ago

महामृत्युंजय जपविधि – (मूल संस्कृत में) महामृत्युंजय भगवान शिव को खुश करने का मंत्र है

महामृत्युंजय जपविधि – (मूल संस्कृत में) अपोऽग्नौअग्निवायौ वायुमाकाशे। आकाशं तन्मात्राऽहंकारमहदात्मिकायाँ मातृकासंज्ञक शब्द ब्रह्मस्वरूपायो हृल्लेखार्द्धभूतायाँ प्रकृत्ति मायायाँ प्रविलापयामि, तथा त्रिवियाँ मायाँ च नित्यशुद्ध बुद्धमुक्तस्वभावे स्वात्मप्रकाश

Nearly 3 years ago

महामृत्युंजय जपविधि – (मूल संस्कृत में) महामृत्युंजय भगवान शिव को खुश करने का मंत्र है

महामृत्युंजय जपविधि – (मूल संस्कृत में) कृतनित्यक्रियो जपकर्ता स्वासने पांगमुख उदहमुखो वा उपविश्य धृतरुद्राक्षभस्मत्रिपुण्ड्रः। आचम्य। प्राणानायाम्य। देशकालौ संकीर्त्य मम वा यज्ञमानस्य अमुक कामनासिद्धयर्थ श्रीमहामृत्युंजय

Nearly 3 years ago

महामृत्युंजय मंत्र के जप व उपासना के तरीके महामृत्युंजय भगवान शिव को खुश करने का मंत्र है

13. जपकाल में आलस्य व उबासी को न आने दें। 14. मिथ्या बातें न करें। 15. जपकाल में स्त्री सेवन न करें। 16. जपकाल