GSLV MARK-III: Space tour not a Dream now after June Launch

जीएसएलवी मार्क-3 रचेगा इतिहास:अंतरिक्ष की सैर, बना रहा है ऐसा रॉकेट

दक्षिण एशिया उपग्रह के सफल प्रक्षेपण के बाद, भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी अब अपने सबसे बड़े रॉकेट – 640 टन के जियोसिंक्रोनस सैटेलाइट लॉन्च वाहन-मार्क III (जीएसएलवी एमके -3) के पहले लॉन्च के लिए तैयारी शुरू कर दी है ।

जीओसिंक्रोनस सैटेलाइट लॉन्च वाहन मार्क्स III (जीएसएलवी मार्क -3) (GSLV Mark-III) भारतीयों को अंतरिक्ष में लेने के लिए एक अच्छा सहायक हो सकता है।

A model of the Geosynchronous Satellite Launch Vehicle (GSLV) Mk III is seen on display, provided by the Indian Space Research Organisation (ISRO), at the India Aviation 2016 airshow at Begumpet airport in Hyderabad on March 18, 2016.

GSLV MARK-III: Space tour not a Dream now after June Launch

भारतीय द्वारा बनाई गई सबसे बड़ी रॉकेट, जीएसएलवी मार्क III अभी तक भारी उपग्रहों को ले जाने में सक्षम है। इसरो – जो कि अब अपने वैश्विक समकक्षों के लिए कठिन प्रतिस्पर्धा के साथ-साथ एक साहसिक नई दुनिया में प्रवेश करती है, दुनिया के भारी वजन वाले बहु-अरब डॉलर के लांच बाजार में अपने नवीनतम उद्यम के साथ अपनी छाप बनाने की अपनी तरफ इशारा कर रही है।

यह भारी लिफ्ट रॉकेट कम पृथ्वी की कक्षा में 8 टन तक रखने में सक्षम है, जो भारत के चालक दल के मॉड्यूल को ले जाने के लिए पर्याप्त है।

2-3 सदस्यीय मानव चालक दल को अंतरिक्ष में जगह बनाने की योजना के साथ ही, इसरो वर्तमान में सरकार के आगे के संकेतों की आशंका कर रही है जो लगभग 3-4 अरब डॉलर के साथ मंजूरी दे दी जाएगी।

यह 640 टन वजन या पूरी तरह भरी हुई जंबो जेट हवाई जहाज के लगभग 5 गुना वजन के लांच पैड तक पहुंचने के लिए सबसे अधिक पूर्णतः कार्यात्मक रॉकेट है।

नया रॉकेट चार टन वर्ग के उपग्रहों को भौओसिंक्रोनस कक्षा में ले जाने में सक्षम है और एक पूरी नई दुनिया खोलता है जिसके माध्यम से इसरो ISRO अब ब्रह्मांड में नई दुनिया की खोज कर सकता है।

नया जीएसएलवी-एमके तृतीय भारत में विकसित और विकसित एक नया वाहन है और 2014 में इस वाहन के एक उप-कक्षा के सफल परीक्षण को यह समझने के लिए आयोजित किया गया कि यह वातावरण में कैसा प्रदर्शन करता है।

इस बड़े रॉकेट का बहुत ही खास बात है की यह अंतरिक्ष में दो स्पोर्ट्स यूटिलिटी वाहनों या एसयूवी के भार के बराबर भार ले जाने में सक्षम है।

सेहत से जुडी बातें इसे भी पढ़ें

  1. पालक खाने के औषधीय गुण जिसे जानने के बाद रोज खायेंगे आप
  2. बाल झड़ने और गिरना रोकने के घरेलू उपाय पाएं रेशमी और घनेरी बाल
  3. सर्दी से बचने के लिए कैसा भोजन करें जानिए
  4. त्वचा, बाल और स्वास्थ्य के लिए फूलगोभी (Phool Gobi) के स्वास्थ्य लाभ
  5. राई (Mustard Seeds) के स्वास्थय लाभ दांत दर्द, सर्दी, जुखाम और भी जानिए
  6. आंखों से चश्मा हटा देंगे ये आसान upay नजर भी हो जाएगी तेज
  7. एक रात में कील मुंहासे का घरेलू उपचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: