Republic Day Speech and Essay In Hindi and English

26 जनवरी 2020 भाषण गणतंत्र दिवस स्पीच Bhashan Hindi

Republic Day Speech In Hindi / गणतंत्र दिवस पर भाषण हिंदी में Kaise likhe Janein गणतंत्र दिवस 26 जनवरी 2020 पर शानदार भाषण [ रिपब्लिक डे स्पीच ] Hindi Speech On Gantantra Diwas 2020 भारत के स्वाधिनता दिवस पर हिंदी में बेस्ट स्पीच और भाषण भारत के तीन महत्वपूर्ण राष्ट्रीय पर्वों में से एक है, 26 जनवरी। 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में पूरे देश में काफी जोश और सम्मान के साथ मनाया जाता है। यह, वह दिन है जब भारत में गणतंत्र और संविधान लागू हुआ था। भारत का संविधान 26 जनवरी 1950 में लागु हुआ था और अब जो आने वाला है , वह 71 वा संविधान होगा |

On this Republic Day you can send the Hindi Republic Day Quotes, Republic Day 2020 or also send the Republic Day Shayari, Republic Day 2020, Republic Day 2020 Shayari, Happy Republic Day 2020, 26 January to your loved ones.

गणतंत्र दिवस 2020 Aur 26 January 2020 Bhashan Hindi For Student

आज हम सभी यहां बेहद खास अवसर पर 70वां गणतंत्र दिवस मनाने इकट्ठा हुए हैं।
हमारे देश भारत में सन 26 जनवरी 1950 से इस तिथि को गणतंत्र दिवस के तौर पर मानते हैं| 26 जनवरी 2020 में भारत में 71वां गणतंत्र दिवस (71th Republic Day) मनाया जाएगा। गणतंत्र दिवस पूरे भारत (India) में हर साल 26 जनवरी (26 January) को हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है।

हमें उन वीर नेताओं की बलिदान को कभी नहीं भूलना चाहिए| उनकी कुर्बानी को हम दिल से सलाम करते हैं|

इस दिन की सबसे अच्छी बात यह है कि सभी जाति एवं धर्म के लोग गणतंत्र दिवस को एक साथ मिलकर बनाते हैं। हमारा देश एक लोकतांत्रिक देश है। देश का संविधान राजनीतिक नेता को चुनने का अधिकार देश में लोगों के ऊपर होता है। डॉ राजेन्द्र प्रसाद भारत पहले राष्ट्रपति थे। उन्होंने कहा था, हमने एक ही संविधान और संघ में हमारे पूर्ण महान और विशाल देश के अधिकार को पाया है। जो देश में रह रहे लोगों के कल्याण की जिम्मेदारी लेता है।

Republic Day Speech and Essay In Hindi and English

Short speech in Hindi | रिपब्लिक डे स्पीच इन हिंदी

भारत के गणतंत्र दिवस पर भाषण

भारत देश के कुछ महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानी नेताओं में इन महान नेताओं का नाम आता है। जैसे महात्मा गाँधी, भगत सिंह, चन्द्र शेखर आजाद, लाला लाजपत राय, सरदार बल्लभ भाई पटेल, लाल बहादुर शास्त्री इन स्वतंत्रता सेनानियों ने हमारे भारत देश को आजाद कराने के लिए अपनी जान भी न्यौछावर कर दी थी। और उनके इन महान कामों के लिए ही आज भी उनका नाम भारत देश के इतिहास में लिखा है। न ही सिर्फ लिखा ब्लकि आज भी देश का बच्चा बच्चा उनको याद करता है और उनके तरह बनना चाहता है। लगातार कई वर्षों तक इन महान लोगों ने ब्रिटिश सरकार का सामना किया और हमारे वतन को उनकी गुलामी से आज़ाद कराया। भारत वासी उनके इस बलिदान को कभी भी भुला नहीं सकते हैं।

आओ करे प्रतिज्ञा हम सब इस पावन गणतन्त्र दिवस पर,
हम सब बापू के आदर्शों को अपनायेगे नया समाज बनायेंगे,
भारत माँ के वीर सपूतों के बलिदानों को हम व्यर्थ न जानें देंगे,
जाति ,धर्म के भेदभाव से ऊपर उठकर नया समाज बनायेंगे.

मैं एक बार फिर आपको अपने भाषण को ध्यान से सुनने के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं और मुझे आप सभी के सामने अपनी बात रखने के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। और आपको भी बात करने का मौका देना चाहता हूं। जय हिन्द! वन्दे मातरम!”

26 जनवरी पर दिल्ली की गणतंत्र दिवस परेड | Republic Day Parade

भारत सरकार हर साल राष्ट्रीय राजधानी, नई दिल्ली (New Delhi) में एक कार्यक्रम आयोजित करती है जिसमें इंडिया गेट पर खास परेड का आयोजन होता है। सुबह-सुबह ही इस महान कार्यक्रम को देखने के लिये लोग राजपथ (Rajpath) पर इकट्ठा होने लगते है। इसमें तीनों सेनाएँ विजय चौक से अपनी परेड को शुरु करती है जिसमें तरह-तरह अस्त्र-शस्त्रों का भी प्रदर्शन किया जाता है। आर्मी बैंड, एन.सी.सी कैडेट्स (NCC Cadets) और पुलिस बल भी विभिन्न धुनों के माध्यम से अपनी कला का प्रदर्शन करते है। राज्यों में भी इस उत्सव को राज्यपाल की मौजूदगी में बेहद शानदार तरीके से मनाया जाता है।

इस दिन देश की सभी सरकारी बेसरकारी दफ्तरों, स्कूल कॉलेज में सरकारी अवकाश होती है| पुरे देश में लगभग हर छोटे बड़े दफ्तरों में तिरंगा लहराया जाता है| पुरे देश में एक भाईचारा की लहर देखने को मिलता है| इसी दिन टीवी इन्टरनेट आदि पर देश की इतिहास के प्रोग्राम को दिखाया जाता है ताकि देश की नई पीढ़ी भी भारत के इतिहास को जान कर गर्व कर सके|

गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है | why we celebrate Republic Day in Hindi

Why we celebrate republic day on 26 January in India
क्योंकि इसी दिन भारत को एक गणतांत्रिक देश घोषित किया गया था साथ ही आजादी के लंबे संघर्ष के बाद भारतीयों को अपनी कानूनी किताब ‘संविधान’ की प्राप्ति हुई थी। 15 अगस्त 1947 को भारत आजाद हुआ और इसके ढ़ाई साल बाद ये लोकतांत्रिक गणराज्य के रुप में स्थापित हुआ। यह भारत के तीन राष्ट्रीय अवकाशों में से एक है, अन्य दो स्‍वतंत्रता दिवस और गांधी जयंती हैं।

ये दिन हमें देश के सहिदों की याद दिलाता है| ये दिवस हर देशवासी के जहन में देश प्रेमी की ज्योत जलाती है| आइए देश की इस ख़ास दिन को अपने दिल से नमन करते हैं|

गणतंत्र दिवस का इतिहास

26 जनवरी को गणतंत्र दिवस Gantantra Diwas समारोह पर भारत के राष्ट्रपति द्वारा भारतीय राष्ट्र ध्वज National Flag को फहराया जाता हैं और इसके बाद सामूहिक रूप में खड़े होकर राष्ट्रगान गाया जाता है। गणतंत्र दिवस को पूरे देश में विशेष रूप से भारत की राजधानी दिल्ली में बहुत उत्साह के साथ मनाया जाता है।

आजादी के बाद एक ड्राफ्टिंग कमेटी को 28 अगस्त 1947 की मीटिंग में भारत के स्थायी संविधान का प्रारुप तैयार करने को कहा गया। 4 नवंबर 1947 को डॉ बी.आर.अंबेडकर की अध्यक्षता में भारतीय संविधान के प्रारुप को सदन में रखा गया। 2 वर्ष 11 महीने और 18 दिन में संविधान बनकर तैयार हुआ। आखिरकार इंतजार की घड़ी 26 जनवरी 1950 को इसको लागू होने के साथ ही खत्म हुई। साथ ही पूर्णं स्वराज की प्रतिज्ञा का भी सम्मान हुआ।

Republic Day Quotes in Hindi

भारत का ध्वज Indian National flag colors meaning

भारत के राष्ट्रीय ध्वज जिसे तिरंगा भी कहते हैं, तीन रंग की क्षैतिज पट्टियों के बीच नीले रंग के एक चक्र द्वारा सुशोभित ध्वज है। इसकी अभिकल्पना पिंगली वैंकैया ने की थी। इसे १५ अगस्त १९४७ को अंग्रेजों से भारत की स्वतंत्रता के कुछ ही दिन पूर्व २२ जुलाई, १९४७ को आयोजित भारतीय संविधान-सभा की बैठक में अपनाया गया था।

भारतीय ध्वज की जानकारी Indian Flag History in Hindi

इसमें तीन समान चौड़ाई की क्षैतिज पट्टियाँ हैं, जिनमें सबसे ऊपर केसरिया, बीच में श्वेत ओर नीचे गहरे हरे रंग की पट्टी है। ध्वज की लम्बाई एवं चौड़ाई का अनुपात ३:२ है। सफेद पट्टी के मध्य में गहरे नीले रंग का एक चक्र है जिसमें २४ आरे होते हैं। इस चक्र का व्यास लगभग सफेद पट्टी की चौड़ाई के बराबर होता है व रूप सारनाथ में स्थित अशोक स्तंभ के शेर के शीर्षफलक के चक्र में दिखने वाले की तरह होता है। भारतीय राष्ट्रध्वज अपने आप मै ही भारत की निति को दर्शाता हुआ दिखाई देता है। आत्मरक्षा, शांति, समृद्धि और सदैव विकास की ओर अग्रसर।

गणतंत्र दिवस से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

1)- परेड में शामिल सभी झांकियां 5 किमी प्रति घंटा की नीयत रफ्तार से चलती हैं, ताकि उनके बीच उचित दूरी बनी रहे और लोग आसानी से उन्हें देख सकें।

2)- राजपथ पर मार्च पास्ट खत्म होने का बाद परेड का सबसे रोचक हिस्सा शुरू होता है, जिसे ‘फ्लाई पास्ट’ कहते हैं।

3)- भारत सरकार ने वर्ष 2001 में गणतंत्र दिवस समारोह पर करीब 145 करोड़ रुपये खर्च किए थे।

4)- भारत सरकार ने वर्ष 2014 में ये खर्च बढ़कर 320 करोड़ रुपये पहुंच गया था।

5)- गणतंत्र दिवस आयोजन की जिम्मेदारी रक्षा मंत्रालय की होती है।

भारत माता की जय…

धन्यवाद आप सभी को गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई

Republic Day Speech in English 2020 sample

Good Morning Chief Guests, teachers, Classmates and other dignitaries on the stage. I would like to express my thoughts on the importance of this auspicious day.

Republic day is a Nation Festival of India. Indians celebrate Republic Day every year on 26th January. India is celebrating the 71st Republic Day. Today we enjoy all freedom, equality, sources, liberty and so on. This all thing is the result of our heroes struggle; hard work and sacrifice so don’t spoil it. Make our nation clean and great.

On this day our constitution came into force making our country an independent Republic. To mark its prominence, we celebrate Republic Day annually on 26th January.

The prime reason for choosing 26th January is because it is also the day of the Declaration of Indian Independence “Purna Swaraj” in 1930

It is known that India became independent on 15th August 1947. But it took a while to write and implement the Indian Constitution which finally came into action on 26 January 1950. Since then, we celebrate January 26th as Republic Day.

Large military parades from the Indian Army, Air Force and Navy, traditional dance groups taking part in it, which are held at Rajkot, New Delhi. The event will be closely observed by the whole world and people are extending their respect to the freedom fighter. Republic Day is a national holiday in India. Government officials, PM and the Chief Ministers of the state has done flag hosting to honor the Country and the constitution makers.

Why do we celebrate Republic day on 26th January

On the event of Republic day, the flag hoisting, various cultural activities, and others will take place everywhere across India. Especially in schools and colleges.

Republic Day speeches generally include much valuable information such as sacrifies of our leaders for the sake of independence

The name of our great freedom fighters and Indian Leaders are Mahatma Gandhi, Bhagat Singh, Chandra Shekhar Azad, Lala Lajpat Rai, Sardar Vallabh Bhai Patel, Lal Bahadur Shastri, etc. They fought for our country against the British Rule to make India a free country.

The army, military, and all the forces take part in the parade to show the culture and tradition of India. We also invite a chief guest from another country. This shows our tradition of “Atithi Devo Bhava.” President of India, who is the commander in chief of Indian Armed Forces. The prime minister of India gives a floral tribute to the sacrificed Indian soldiers at the Amar Javan Jyoti, India gate.

In 2020, it falls on a Sunday. Large military parades are held in New Delhi and the state capitals. Representatives of the Indian Army, Navy and Air Force and traditional dance troupes take part in the parades.

Awards and medals ceremony

Awards and medals of bravery are given to the people from the armed forces and also to civilians. Helicopters from the armed forces then fly past the parade area showering rose petals on the audience. School children also participate in the parade by dancing and singing patriotic songs. Armed Forces personnel also showcase motorcycle rides.

There are many national and local cultural programs focusing on the history and culture of India. Children have a special place in these programs.

Public Life on 26 जनवरी Republic day

Republic Day is a gazetted holiday in India on January 26 each year. National, state and local government offices, post offices and banks are closed on this date. Stores and other businesses and organizations may be closed or have reduced opening hours.

Public transport is usually unaffected as many locals travel for celebrations. Republic Day parades cause significant disruption to traffic and there may be increased security on this date, particularly in areas such as New Delhi and state capitals.

Sare Jahan Se Achha Hindustan Hamara Lyrics

सारे जहाँ से अच्छा या तराना-ए-हिन्दी उर्दू भाषा में लिखी गई देशप्रेम की एक ग़ज़ल है जो भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के दौरान ब्रिटिश राज के विरोध का प्रतीक बनी और जिसे आज भी देश-भक्ति के गीत के रूप में भारत में गाया जाता है।

सारे जहाँ से अच्छा, हिन्दोस्ताँ हमारा
हम बुलबुलें हैं इसकी, यह गुलिस्ताँ हमारा

ग़ुरबत में हों अगर हम, रहता है दिल वतन में
समझो वहीं हमें भी, दिल हो जहाँ हमारा

परबत वो सबसे ऊँचा, हमसाया आसमाँ का
वो संतरी हमारा, वो पासबाँ हमारा

गोदी में खेलती हैं, जिसकी हज़ारों नदियाँ
गुलशन है जिसके दम से, रश्क-ए-जिनाँ हमारा

ऐ आब-ए-रूद-ए-गंगा! वो दिन है याद तुझको
उतरा तेरे किनारे, जब कारवाँ हमारा

मज़हब नहीं सिखाता, आपस में बैर रखना
हिन्दी हैं हम, वतन है हिन्दोस्ताँ हमारा

यूनान-ओ-मिस्र-ओ- रोमा, सब मिट गए जहाँ से
अब तक मगर है बाकी, नाम-ओ-निशाँ हमारा

कुछ बात है कि हस्ती मिटती नहीं हमारी
सदियों रहा है दुश्मन, दौर-ए-जहाँ हमारा

‘इक़बाल’ कोई महरम, अपना नहीं जहाँ में
मालूम क्या किसी को, दर्द-ए-निहाँ हमारा

सारे जहाँ से अच्छा, हिन्दोस्ताँ हमारा
हम बुलबुलें हैं इसकी, यह गुलिसताँ हमारा

Sare Jahan Se Acha Lyrics in English

Sare jahan se accha hindostan hamara
ham bulbulain hai is ki, yeh gulsitan hamara

Ghurbat men hon agar ham, rahta hai dil vatan men
samjho vahin hamen bhi, dil hain jahan hamara

Parbat voh sab se uncha, hamsaya asman ka
voh santari hamara, voh pasban hamara

godi men khelti hain is ki hazaron nadiya
gulshan hai jin ke dam se, rashkejanan hamara

aye ab, raud, ganga, voh din hen yad tujhko
utara tere kinare, jab karvan hamara

maz’hab nahin sikhata apas men bayr rakhna
hindvi hai ham, vatan hai hindostan hamara

yunanomisroroma, sab mit. gaye jahan se
ab tak magar hai baqi, namonishan hamara

kuch bat hai keh hasti, mit.ati nahin hamari
sadiyon raha hai dushman, daurezaman hamara

iqbal ko’i meharam, apna nahin jahan men
m’alum kya kisi ko, dardenihan hamara.

जय हिन्द!!!

इसे भी पढ़ें :

👉गणतंत्र दिवस से जुड़े कुछ रोचक तथ्य
👉भारत के प्रमुख व्रत पर्व और त्यौहार
आपको यह Post अच्छी लगे तो Twitter पर SHARE जरुर कीजिये और FACEBOOK PAGE पर LIKE कीजिए और खबरों के लिए पढते रहे

Source National Flag : Wikipedia

2 thoughts on “Republic Day Speech and Essay In Hindi and English

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: